Monday, September 1, 2014

30. Megh : thus spoke Puranas- kingdom of kosala


पार्जीटर महोदय ने पुराणों का गहन अध्ययन और अनुशीलन किया और उनमें से इतिहास के कई तथ्यों को उजागर किया। उन्होंने पुराणों की कई पांडुलिपियों के सन्दर्भों के साथ भारत के कई प्राचीन राजवंशों को उजागर कियाजिनमें मेघवंश भी एक है।
विभिन्न पांडुलिपियों के सन्दर्भों के साथ पार्जीटर महोदय ने अपने ग्रन्थ "पुराण टेक्स्ट ऑफ़ दी डाइनेस्टीज ऑफ़ दी कलि एजके पृष्ठ 32 पर पुराणों में इस वंश को निर्देशित करने वाले श्लोक को उद्धृत किया-

'कोसलयां तु राजानो भविष्यन्ति महाबलाः।
मेघा इति समाख्याता बुद्धिमंतो नवैव तु।।'

भावार्थ यह है कि कोसल देश में महाबलशाली राजा होंगे। ये मेघ नाम से जाने जायेंगे/प्रसिद्द होंगेये बुद्धिमान होंगेइनकी संख्या नौ होंगी।
Reference as cited above page-



1 comment: