Thursday, September 18, 2014

74. Meghs : Kolarian group

जहाँ तक मेरी जानकारी है, प्रायः सभी पुरातत्व वेत्ताओं और इतिहासकारों ने तथा एन्थ्रोपोलोजी आदि के विद्वानों ने मेघ लोगों को कोलारियन जातीय समूह में परिगणित किया है। जो भारत में वैदिक आर्यों से पूर्व निवास करने वाला समूह था। द्रविड़ लोग भी आर्यों से पहले भारत में बस चुके थे। डाल्टन महोदय ने भारत के लोगों को दो तरह का वर्गीकरण किया है। जिसमें एक आर्य (Arya) व दूसरा अनार्य (non-Aryan); अनार्य वर्ग को पुनः दो भागों में विभक्त किया। पहला- कोल समूह (Kolaria group) व दूसरा- द्रविड़ (Dravid), इस वर्गीकरण को कई पैमानों और मानकों पर परख कर सन्धेय किया गया है। उनमें से एक निम्नोक्त है, जो विचारणीय है-

"Colonel Dalton comprises all the non-Aryan tribes under two heads, namely, 1. The Kolarian, or those who speak a language allied with that of Kols, Santhals, Mundas and their cognates. 2. The Draviden, or those who speak a language allied with the Tamil or Telugu."

Page-12


(Reference: Col. Dalton,- 'Descriptive Ethnology---' (1866) in "The History of India" vol-3, By J. Talboys Wheeler, Trubner & co. London, 1874 and also in Caldwell's Comparative Grammer-- and other sources affirm the theory. As such I also inclined to endorse the derivation.)

No comments:

Post a Comment