Thursday, May 4, 2017

168. सियालकोट के मेघ और आर्य समाज- 2

1910 में सियलकोट में एक और (अन्य) 'आर्य मेघ उद्धार सभा' का गठन--

 सियालकोट के आर्य-भगत पूर्ण का पुत्र रामचंद्र मेघ जाति का प्रथम स्नातक हुआ!

आर्य समाज ने "मेघ और उनकी शुद्धि " नामक पुस्तक प्रकाशित की,
जिस में मेघों को ब्राह्मण घोषित किया।...

(For detail read  history of Arya Samaj, these pages are from a short naration of its Sialkot  branch)

सन्दर्भ:
आर्य प्रतिनिधि सभा पंजाब का सचित्र इतिहास,
द्वारा: भीमसेन विद्यालंकार
प्रकाशक : आर्य प्रतिनिधि सभा पंजाब, लाहौर.
प्रकाशन वर्ष: विक्रमी संवत्  चैत्र 1992 तदनुसार ईस्वी सन् 1936


No comments:

Post a Comment